लोकतन्त्र का बजा झुनझुना, अच्छे दिन दिखला देता है।।

राजनीति में मँझा खिलाड़ी
दिन में चाँद दिखा देता  है
लोकतन्त्र का बजा झुनझुना
अच्छे दिन दिखला देता है।

बीघे को बालिश्तों में बेच ज्यूँ
बिल्डर मोटी रकम बना लेता है
कारोबारी हेर फेर में ज्यूँ बनिया
शक्कर, शुगर फ्री  बना देता है।

राजनीति में मँझा खिलाड़ी
दिन में चाँद दिखा देता है

कॉर्पोरेट का सेल्समेन ज्यूँ
दिन में स्वप्न दिखा देता है
बीमा वाला कर्मी कोई ज्यूँ
पॉलिसी के गुण गिनवाता है

राजनीति में मँझा खिलाड़ी
दिन में चाँद दिखा देता है

सात साल का छोटा बच्चा
ज्यूँ राज श्री चबा जाता है
गँजू गँजू कह कर जो
टकले पर थाप बजा जाता है

राजनीति में मँझा खिलाड़ी
दिन में चाँद दिखा देता है

तन पे कपड़े भगवाधारी
हुक्का पिये धरा जाता है
गली का गुण्डा जैसे अब
पुलिस मुखबिर बन जाता है

राजनीति में मँझा खिलाड़ी
दिन में चाँद दिखा देता है

पद, वर्दी का रौब झाड़ ज्यूँ
कोतवाल बैरंग लौटा देता है
पान चबाता कोई आदमी
पता गलत बतला देता है

राजनीति में मँझा खिलाड़ी
दिन में चाँद दिखा देता

जैसे कोई छोटा बच्चा
सब कुछ बतला देता है
मोर कोई मस्त नृत्य में
अपने पँख गिरा देता है

राजनीति में मँझा खिलाड़ी
दिन में चाँद दिखा देता
@vikram
Post a Comment